HindiPulse-jankari in hindi

15 August: भारत की आजादी के लिए क्यों चुनी गई | Indian Independence Day 2020

Category : INTERNET |
Gayatri Verma

15-august-kyu-manaya-jata-hai

हेल्लो दोस्तों hindipulse मे आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है। दोस्तों जैसे कि आपको पता ही है ह्मारे देश भारत मे हर साल 15 अगस्त को राष्ट्रिय छुट्टी के रूप में मनाते है।

लेकिन आप मे से बहुत से लोगो को ये नहीं पता होगा कि 15 अगस्त क्यो छुट्टी का दिन कहलाता है। तो मै आपको इस पोस्ट मे भारत मे 15 अगस्त का क्या महत्व है 15 अगस्त क्यो मनाया जाता है इसकी पूरी जानकारी देनई जा रही हूँ।

वैसे भारतीय मान्यताओं के अनुसार भारत मे हर दिन एक त्योहार के रुप मे होता है लेकिन उन्हीं त्योहारों मे से 15 अगस्त का त्योहार पूरे देश के लिये बहुत ही खाश है।

इस दिन पूरे देश मे राष्ट्रिय अवकाश रह्ता है सभी तरह के दफ्‍तर, बैंक, school और colleges को इस दिन बंद रखा जाता है और सभी अपने अपने तरीके से इस त्योहार को मानते है।

इस त्योहार को स्वतंत्रता दिवस या अज़ादी दिवस के रुप मे मनाया जाता है।

इस दिन देश के प्रधानमंत्री लालकिले पर देश का ध्वज तिरांगा को फेहराते है और देश को सम्भोधित भी करते है वही 26 जनवरी को देश के राष्ट्रपति ही देश को सम्भोधित करके तिरंगे को फेहराते है।

अब बात आती है ये आजादी मानने के लिये 15 अगस्त ही क्यो चुना गया तो इसके पीछे भी अलग अलग इतिहासकारों का अलग अलग मत है।

बताया जाता है कि देश 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजो की गुलामी से पूरी तरह आज़ाद हुआ था और एक स्वतंत्र राष्ट्र भी बना था और इसी खुशी को हर साल एक त्योहार के रुप मे मनाकर ये त्योहार मनाया जाता है।  

15 अगस्त ही वो तारिख है जिस दिन भारत देश को पूरी तरह से आज़ादी मिली थी ब्रिटिश शासन के 200 साल बाद भारत ने इस आज़ादी को जीता था जिसमें ह्मारे देश के बहुत से स्वतंत्रा सेनानी जैसे महत्मा गाँधी, जवाहरलाल नेहरू, भगत सिंह और ऐसे बहुत से बड़े बड़े नाम है जिनकी वजह से ही आज ह्म आज़ाद हिंद मे है और अंग्रेजो की गुलामी से बाहर निकल पाये थे।

वही कुछ इतिहासकारों का मानना है कि ह्मारा देश 30 जून 1948 को आज़ाद होने वाला था लेकिन इन्ही इतिहासकारों का मानना है कि सी गोपालाचारी ने ब्रिटिश के आखिरी वयसारय लॉर्ड माउंटबटेन को 15 अगस्त का सुझाव दिया और ये भी कहा जाता है लॉर्ड माउंटबटेन 15 अगस्त को एक खास तारिख के रुप मे भी देखता था और इसे बहुत ही शुभ भी मानता था क्यूँकि 15 अगस्त के दिन ही साल 1945 मे जपानी सेना ने ब्रिटिश सेना के आगे आत्मसमर्पण कर दिया था और तभी से लॉर्ड माउंटबटेन इस तारिख को शुभ मानने लगे थे।  

 

स्वतंत्रता दिवस क्या है | भारत मे स्वतंत्रा दिवस कैसे मनाया जाता है?

भारत मे हर साल 15 अगस्त को पूरे देश मे छुट्टी का दिन होता है साथ ही देश के प्रधानमंत्री देश को सम्भोधित करते हुए देश के तिरंगे को लालकिले पर फेहराते है।

साथ ही पूरे देश मे आजादी को मेह्सुस करने के लिये पतंग को भी उड़ाकर अनंद लेते है।

पूरे देश के लिये ये दिन गर्व का दिन होता है। साथ ही उन सभी जवानो और स्वतंत्रा सेनानियों को सम्मान और याद करने का भी दिन होता है जिन्होने ह्मे अंग्रेजो की गुलामी से आज़ादी दिलायी है।

सभी स्कूल और कॉलेज मे एक दिन पहले यानि 14 अगस्त को बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है और देश के सभी वीर जवान और स्वतंत्रा सेनानियों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की जाती है।

Conclusion

इस पोस्ट मे मैंने आपको 15 अगस्त यानी स्वतंत्रा दिवस क्यो मान्य जाता है इसके बारे मे बताया है, आशा करती हूँ आप भी अब स्वतंत्रा दिवस और 15 अगस्त के मह्त्व को समझ ही गये होंगे।

 

hindi pulse
Gayatri Verma
Internet से जुडी काफी जानकारियां जिन्हें आपके लिए जानना जरुरी हैं उन्हें पढ़िए Hindipulse Par
Leave a Comment: